Wednesday, July 1, 2015

हम आज भी अपने हुनर मे दम रखते है, होश उड़ जाते है लोगो के, जबहम महफील में कदम रखते है।।

हम आज भी अपने हुनर मे दम रखते है, होश उड़ जाते है लोगो के, जबहम महफील में कदम रखते है।।

No comments:

Post a Comment